क्या आप अमर हो सकते हो, विज्ञान की सबसे चौका देने वाली सच्चाई !


क्या आप अमर हो सकते हो, विज्ञान की सबसे चौका देने वाली सच्चाई !
क्या आप अमर हो सकते हो, विज्ञान की सबसे चौका देने वाली सच्चाई !

क्या आप अमर हो सकते हो, विज्ञान की सबसे चौका देने वाली सच्चाई ! : Kya Aaap Amar Ho Sakte Ho

सबसे पहले हम आपसे ये पूछता हूँ की क्या आप ने कभी सोचा है की हमारी उम्र क्यों बढ़ती है ? नहीं मतलब सच में हम लोग सब जानते हैं कि हम लोग जन्म लेते हैं, अपने जिंदगी को जीते हैं और आखिर में मर जाते हैं और इसका मेन कारण होता है एजिंग (Aging). पर हमारा शरीर हमेशा के लिए क्यों नहीं जिंदा रहता.

चलिए जानते है अमरत्व के बारे में और क्या कहता है विज्ञान यानि साइंस.

सबसे पहले हम इस क्वेश्चन का आंसर जान लेते हैं कि हमारा बॉडी आखिर क्यों ऐज (Age) करता है. बात कुछ ऐसी है कि हमारे शरीर में दो तरीके के सेल्स होते हैं. एक होती है फंक्शनिंग सेल और दूसरी होती है नॉन फंक्शनिंग सेल्स.

फंक्शनिंग सेल्स हमें जिंदा रखती है पर जो दूसरी नॉन फंक्शनिंग सेल्स है वह धीरे-धीरे हमारी बॉडी में जमा होने लगती है. पर जब हमारी एज (उम्र) कम होती है अब यह सेल्स अक्सर मर जाती है और यह हम लोगों को कुछ खास इफ़ेक्ट नहीं कर पाते. पर जैसे जैसे समय बीतता है, यह हमारी बॉडी में ज्यादा मात्रा में जमा होने लगती है और इस बुरे सेल की मरने की स्पीड स्लो हो जाती और धीरे-धीरे यही सेल डोमिनेट करने लगती है. और ये इतना ज्यादा हो जाता है की वो सेल्स उन जगहों को भी ले लेती है जो फंक्शनिंग सेल्स को चाहिए हमारे शरीर को जिंदा रखने के लिए.

यही वजह है की हमारा बॉडी ब्रेक डाउन होने लगता है. लगभग 1 लाख लोग ओल्ड ऐज ( बुढ़ापा) के कारण मरते हैं. रिकॉर्ड्स के हिसाब से आज तक की सबसे ज्यादा जिंदा रहने वाली ह्यूमन बीइंग ( व्यक्ति ) एक महिला है. जिनका नाम है जैन कैलमेंट ( Jeanne Calment ). इनकी मृतु तब हुई जब ये 122 साल की थी.

गेरोंटोलॉजिस्ट ” ऑब्रे दी ग्रे ” ने एक थ्योरी निकाली है इम्मोरटलिटी ( अमरत्व ) के ऊपर. उनका लक्ष्य है कि किसी भी तरह ऐसी मेथड का पता करना जिससे हम लोग एजिंग के प्रोसेस को स्लो कर सके. शायद ये आपको सुनने में अजीब लगेगा पर आप को यह जान लेना चाहिए कि आज की साइंस की वर्ल्ड में ऐसे बहुत सारे एक्सपेरिमेंट्स कंडक्ट किए जा रहा है, इस कोशिश में कि हम लोग किसी ह्यूमन दिमाग को कंप्यूटर में डाल सके.

जी हां ह्यूमन दिमाग को कंप्यूटर में, सोचिए कि आपका दिमाग, आपकी यादें और आपकी एक्सपीरियंस को किसी डिजिटल कंप्यूटर में अपलोड कर दिया जाए और वह भी हमेशा के लिए और इसके चलते आप जिन लोगों से प्यार करते हो उन लोगों के साथ हमेशा जी पाओ. है न दोस्तों इंटरेस्टिंग, ये भी कुछ दिन बाद संभव हो जाएगा और शायद आप अमर हो सको, इस बॉडी में नहीं बल्कि एक कंप्यूटर में.

मैंने आपको सारी चीजें बताओ साइंटिफिक तरीके से बताई है, प्लीज इसलिए ये कमेंट मत करना की कोई ऐसी लिक्विड बताओ जिससे हम अमर हो सके.

Comments


log in

Don't have an account?
sign up

reset password

Back to
log in

sign up

Captcha!
Back to
log in