चीख सकती है, बच्चे को जन्म दे सकती है डेड बॉडी, जानिए डेड बॉडी से जुड़े 8 फैक्ट्स


चीख सकती है, बच्चे को जन्म दे सकती है डेड बॉडी, जानिए डेड बॉडी से जुड़े 8 फैक्ट्स
thumbnail-caption

 

दोस्तों आज हम अपने इस आर्टिकल ( चीख सकती है, बच्चे को जन्म दे सकती है डेड बॉडी, जानिए डेड बॉडी से जुड़े 8 फैक्ट्स) में बात कर रहे है डेड बॉडी की यानि मृत शरीर की और इससे जुड़े कुछ अजीबोगरीब फैक्ट्स के बारे में जो शायद आप को भी पता ना हो. कहते है की जो भी व्यक्ति या जीव इस धरती पर जन्म लिया है उसे एक ना एक दिन मरना ही है. यह सिर्फ एक कहावत ही नहीं अपितु अटल सत्य है. मृत्यु हर इंसान का आखरी पड़ाव है और मरने के बाद मृत शरीर से उनकी आत्मा उसे छोड़ कर चली जाती है. अगर ऐसा होता है मरने के बाद शरीर में रहस्य्मय बदलाव क्यों आते है जबकि मृत शरीर तो निर्जीव हो जाता है. मौत के बाद क्या होता है आज तक इस रहस्य कोई नहीं जान पाया है, लेकिन मृत्यु के बाद मृत शरीर यानि बॉडी में क्या-क्या बदलाव आता है इसके बारे में थोड़ा बहुत हम जरूर जानते है. दोस्तों आज हम आपको बताने जा रहे हैं मौत के बाद डेड बॉडीज में आने वाले उस रहस्य्मयी बदलावों के बारे में जिसे सुन आप हैरत में पड़ जायेंगे.

 

 

क्या आपको पता है की डेड बॉडी चीख सकती है ?

कई बार पोस्टमॉर्टम के दौरान डेड बॉडीज आवाज निकालती यानि चीखती हैं. होता यु है की, मौत के बाद बॉडी के अंदर मौजूद बैक्टीरिया उत्पन्न हो जाते है जो की गैस बनाते हैं और उसी वजह से बॉडी के वोकल मसल्स ( पेशियों ) में खिंचाव आता है. इसी वजह से डेड बॉडी कराहने और चीखने लगती है.

 

आंखें और जीभ बाहर निकल जाती है

आपने कई बार देखा और सुना होगा कि मरने के बाद बॉडी से आंखें बाहर निकल जाती हैं. होता यु है की, मौत के बाद बॉडी की इन्टेस्टाइन्स ( आंत ) में बनने वाली गैस और अंदर सड़ रहे ऑर्गन्स ( अंगो ) के कारण ऐसा होता है. साथ ही जीभ भी सूजन पड़ने की वजह से मुंह से बाहर निकल आती है.

 

मौत के बाद कई तरह के जीव-जंतु खींचे आते हैं डेड-बॉडी की तरफ

बैक्टीरिया और फंगस के अलावा भी कई तरह के जीव जैसे मक्खियां शरीर से निकलने वाली स्मेल से आकर्षित होकर उसकी तरफ खींची चली आती हैं. इसके अलावा चींटियां और मकड़ियां भी मृत शरीर से आकर्षित होती हैं।

 

मरने के बाद बदलने लगता है बॉडी का कलर

मरने के बाद मृत शरीर का रंग बदलने लगता है. दरअसल, मरने के बाद ब्लड सर्कुलेशन ( रक्त प्रवाह ) रुकने के कारण बॉडी का रंग नीला पड़ने लगता है. इसके साथ साथ हीमोग्लोबिन का लेवल भी कम होने लगता ही जिसकी वजह से शरीर पीला पड़ने लगता है.

 

अपने आप ही ममी में बदल जाती है डेड बॉडी

कुछ खास तरह के परिवेश या इको-जोन्स में रखे जाने पर मृत शरीर पर उन्हें सड़ाने वाले बैक्टीरिया ( कीटाणु) का ज्यादा असर नहीं होता. ऐसे में मृत शरीर प्राकृतिक रूप से ममी में बदल जाती है. इस तरह के कई मामले देखने को मिलते हैं जिनमें बर्फ या नमक के रेगिस्तान में मिली मृत शरीर को ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचा था और शरीर लंबे समय तक सुरक्षित रहा.

 

मौत के बाद भी शरीर दे सकती है बच्चे को जन्म

इस तरह की प्रक्रिया को ‘कॉफिन बर्थ’ के नाम से जाना जाता है. इसमें प्रेग्नेंट महिला की मौत होने के बाद उसकी मृत शरीर अपने आप बच्चे की डिलिवरी करवाती है. होता यु है की , मरने के बाद शरीर में बनने वाली गैस बच्चे को मां के पेट से बाहर की तरफ धकेलती है. वैसे तो दुनिया में कॉफिन बर्थ के बहुत कम मामले ही देखने को मिले है और ऐसे मामलों में ज्यादातर बच्चे की मौत हो जाती है. सन 2007 में भारत में एक महिला ने मौत के बाद जिंदा बच्चे को जन्म दिया.

dead body mrit sharir bacche ko janm,chikh, chikhna, sharir ka colour change, mummy me badalna, jiv, jantu ka aakarshit hona, aankhen aur jibh bahar aana | dead body yani mrit sharir se jude facts 8

loading...

Comments


log in

Don't have an account?
sign up

reset password

Back to
log in

sign up

Captcha!
Back to
log in