इन सितारों को शोहरत तो मिली, लेकिन बाकी जिंदगी डिप्रेशन, तकलीफ और अकेलेपन..


इन सितारों को शोहरत तो मिली, लेकिन बाकी जिंदगी डिप्रेशन, तकलीफ और अकेलेपन..
इन सितारों को शोहरत तो मिली, लेकिन बाकी जिंदगी डिप्रेशन, तकलीफ और अकेलेपन..

बॉलीवुड के इन सितारों को शोहरत तो मिली, लेकिन बाकी जिंदगी डिप्रेशन, तकलीफ और अकेलेपन…

माया नगरी मुंबई को कई नामों से जाना जाता है. आर्थिक नगरी और सपनों की नगरी. यहां दुनिया भर से लोग आंखों में सपने संजोए चलें आते हैं. इनमें से कुछ ऐसे होते हैं जिन्हें नाम और शोहरत सब मिल जाता है. लेकिन इस इंडस्ट्री की बेरहमी का अंदाजा आप कुछ ऐसे अभिनेता और अभिनेत्रियों के किस्से से लगा सकते हैं, जिनकी जिंदगी शुरुआत में तो बहुत अच्छी रही. लेकिन बाद में कुछ सितारे डिप्रेशन में पहुंच गए, तो किसी को अकेलेपन ने मार डाला. जबकि कईयों की तो आधा से ज्यादा जिंदगी तकलीफ में हीं गुजरी.

गीतांजलि नागपाल

गीतांजलि नागपाल

गीतांजलि अपने जमाने में सुपरमॉडल रह चुकी हैं. साल 2007 में दिल्ली की सड़कों पर भीख मांगते हुए देखा गया था. एक नेवी ऑफिसर की बेटी अपने सुनहरे करियर को लेकर काफी अग्रसर थी. लेकिन ड्रग्स की लत ने उन्हें ऐसा झगड़ा, की नौकरानी तक बना दिया. आर्थिक तंगी से बदहाल गीतांजलि की हालत बद से बदतर हो गई. एक समय था जब सुष्मिता सेन जैसी अभिनेत्री के साथ उन्होंने रैंप पर कैटवॉक भी किया था. और हालात में फुटपाथ पर पहुंचा दिया.

मिताली शर्मा

मिताली शर्मा

हाल ही में लोखंडवाला की सड़कों पर मुंबई पुलिस ने मिताली को भीख मांगते और चोरी करते हुए पकड़ा. जब पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार करने की कोशिश की तो मिताली ने पहले तो पुलिस को गालियां दी, अपना हाथ छुड़ाया और फिर एक महिला पुलिस को दांत काट कर भागने की कोशिश भी की. बता दें कि मिताली शर्मा दिल्ली की रहने वाली है और भोजपुरी फिल्मों के साथ-साथ मॉडलिंग में भी अपनी किस्मत आजमा चुकी हैं. घरवालों की इच्छा के खिलाफ मुंबई में अपना कैरियर बनाने आई थी. नाराज परिवार वालों ने छोड़ दिया. कुछ फिल्मों में मॉडलिंग भी कि, लेकिन बाद में काफी समय तक कोई काम नहीं मिला. आर्थिक तंगी की वजह से डिप्रेशन में चली गई थी. उनके हालात दिन-ब-दिन इतने खराब होते चले गए कि पुलिस नज गिरफ्तार कर लिया. बता दें कि सबसे पहले मिताली में पुलिस से खाने की हीं मांग की थी.

परवीन बॉबी

परवीन बॉबी

देवर, नमक हलाल, अमर अकबर एंथनी और शान जैसी सुपरहिट फिल्मों में अपनी अभिनय क्षमता के बल पर जलवा दिखा चुकी परबीन की घर में ही मौत हुई थी. मुंबई के अपने अपार्टमेंट में 22 जनवरी 2005 को परबीनन बॉबी ने अपनी आखिरी सांसें ली थी. उनके पड़ोसियों ने पुलिस को बताया था कि परबीन पिछले 3 दिनों से दूध और अखबार जैसी चीजें नहीं ले रही थीं. काफी समय से वो मुंबई में अकेली रह रही थीं. और डिप्रेशन में जा चुकी थीं. परबीन ने खुद को दुनियां से अलग-थलग कर लिया था. फिल्मों से भी वो अचानक हीं गायब हो गईं थीं. महेश भट्ट ने एक बार कहा था कि परवीन बॉबी Schizophrenia से ग्रस्त हैं.

भारत भूषण

भारत भूषण

40 के दशक के सबसे बड़े सितारों में शुमार भारत भूषण ने अपनी अभिनय क्षमता के बल पर कामयाबी की बुलंद सीढ़ियों को तय किया था लेकिन इनकी जिंदगी में भी वह समय आ गया जब वो नाकामयाबी की गहराइयों में धंसते चले गए. भारत भूषण की जिंदगी में भी एक समय ऐसा आ गया, जब उन्हें कोई पूछने वाला नहीं रहा. फिल्मों में काम मिलने उन्हें बंद हो गए. आर्थिक स्थिति चरमरा गई. हालात इतने बदतर हो गए कि फिल्म स्टूडियो में उन्होंने चौकीदार की नौकरी भी की. एक समय के स्टार रहे भारत भूषण की 1992 में मृत्यु हो गई. वो एक किराए के कमरे में रहते थे.

ए.के हंगल

ए.के हंगल

बॉलीवुड के जाने-माने मशहूर अभिनेता ए.के हंगल की 95 साल की उम्र में मृत्यु हो गई. कई सुपर हिट फिल्मों में काम कर चुके ए.के हंगल कि जिंदगी भी तकलीफों भरी गुजरी. हालात ऐसे हो गए कि उनके पास इलाज के लिए भी पैसे नहीं बचे थे. उनके बेटे ने भी पैसों की वजह से अपने हाथ खड़े कर दिए थे. जब अमिताभ बच्चन को उनकी बदहाली का पता चला, तो उन्होंने आर्थिक मदद करने की बात कही थी.

अचला सचदेव

अचला सचदेव

‘ए मेरी जोहरा जबीं, तुझे मालूम नहीं’ जैसी सुपरहिट गाने से सुर्खियों में आई अचला सचदेव की मृत्यु 2012 में हुई. अचला के पति की मौत साल 2002 में हो गई थी, जिसके बाद से वो पुणे में अकेली रह रहीं थीं. उनकी बेटी मुंबई में रहती हैं. और बेटा अमेरिका में. लेकिन उनकी देखभाल के लिए उनके पास कोई नहीं था. अकेलेपन की जिंदगी ने अचला को काफी मजबूर कर रख दिया था. जनसेवा फाउंडेशन नाम की एक संस्था में उन्हें अपने गेस्ट हाउस में रहने को दिया था. और पुणे के हीं एक अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था. बता दें कि ये वही संस्था थी जिसे कभी अचला सचदेव ने लाखों रुपए की डोनेशन दी थी. इतना ही नहीं अचला की चैरिटी से एक अस्पताल भी बनवाया जा चुका है, जिसमें गरीबों का काफी सस्ते में इलाज कराया जाता है.

ओपी नैय्यर

ओपी नैय्यर

मशहूर गीतकार ओपी नैय्यर की मृत्यु साल 2007 में हुई थी. कई यादगार धुनों को बनाने वाले ओपी नैय्यर ने बिना किसी गॉडफादर के इंडस्ट्री में अपनी अलग पहचान बनाने में कामयाबी हासिल की थी. लेकिन बावजूद इसके उनका आखरी वक्त भी काफी दिक्कतों भरा गुज़रा. अपने घर वालों से अलग होने के बाद वो अपने एक फैन के घर पर हीं रह रहे थे. शराब की ऐसी आदत पड़ी की जिंदगी की आखिरी वक्त में भी कोई अगर उनके पास इंटरव्यू लेने जाता, तो उनसे वो शराब की मांग कर बैठते थे.

सतीश कौल

सतीश कौल

सतीश कौल को लोग पंजाबी सिनेमा के अमिताभ बच्चन के रूप में जानते हैं. लेकिन आज उनकी जिंदगी भी काफी तकलीफदेह है. डॉक्टरों का कहना है कि वो डिप्रेशन के शिकार हो चुके हैं. कुछ समय पहले हीं किसी व्यक्ति ने उन्हें अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती करवाया था. तब से लेकर आज तक उनके परिवार से किसी भी व्यक्ति ने उनसे मिलने की तकलीफ नहीं उठाई.

जगदीश माली

जगदीश माली

अभिनेत्री अंतरा माली के पिता, मश्हूर फोटोग्राफर जगदीश माली मुंबई की सड़कों पर भीख मांगते हुए दिखे थे. इन्हें एक मॉडल ने पनाह दी थी. मॉडल ने जगदीश को खाना खिलाया और फिर सलमान खान की गाड़ी से उन्हें घर पहुंचाया गया. काफी बदतर हालात में नजर आने वाले जगदीश माली की हालत बहुत खराब हो चुकी थी. 13 मई 2013 को उनकी मृत्यु हो गई.

Comments


log in

Don't have an account?
sign up

reset password

Back to
log in

sign up

Captcha!
Back to
log in