गरुड़ पुराण के अनुसार इन 5 चीजों के रोजाना दर्शन से बरसने लगेगा धन !


गरुड़ पुराण में मनुष्य के लिए वो सारी चीज़े बताई गई हैं जिससे हम साधारण मनुष्य अपनी समस्याओं का निदान कर सकते हैं
गरुड़ पुराण में मनुष्य के लिए वो सारी चीज़े बताई गई हैं जिससे हम साधारण मनुष्य अपनी समस्याओं का निदान कर सकते हैं

गरुड़ पुराण में मनुष्य के लिए वो सारी चीज़े बताई गई हैं जिससे हम साधारण मनुष्य अपनी समस्याओं का निदान कर सकते हैं. यहां तक कि ऐसी भी चीजें बताई गई हैं, जिनके केवल दर्शन मात्र से पुण्य और लाभ मिल जाता है. और धन की आवाजाही बढ़ जाती है.

आइए जानते हैं कुछ ऐसी हीं चीजों के बारे में जिनके नित्य दर्शन से धन की बरसात होने लगती है.

गोमूत्र

हिंदू धर्म में गोमूत्र को बहुत पवित्र माना गया है. शास्त्रों मैं बताया गया है कि गोमूत्र में माता गंगा निवास करतीं हैं. गोमूत्र को धारण करने से व्यक्ति की सारी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं. लेकिन गरुड़ पुराण में बताया गया है कि गोमूत्र के दर्शन मात्र से हीं मनुष्य को लाभ और पुण्य की प्राप्ति हो जाती है.

गाय का गोबर

हिंदू धर्म में गाय को माता का सम्मान दिया जाता है. और गाय की पूजा की जाती है. किसी भी स्थान को पवित्र बनाने के लिए गाय के गोबर का उपयोग किया जाता है. मनुष्य अगर सच्ची भावना से गाय के गोबर को सिर्फ देख ले, तो उसे पुण्य की प्राप्ति होती है. और धन का आगमन बढने लगता है.

पकी हुई खेती

ऐसे खेत जिसमें फसल भरे हुए हों और पके हुए हों, तो ये काफी अच्छा होता है. ऐसे फ़सलों और खेत का दर्शन हर रोज किया जाए तो पुण्य का प्रतीक होता है. गरुड़ पुराण में बताया गया है कि पकी हुई फसलों से भरे हुए खेत को रोजाना देखने मात्र से मनुष्य को लाभ और पुण्य की प्राप्ति होती है.

गोधूलि

कई बार ऐसा होता है कि गाय अपने पैरों से जमीन को खुरच देती हैं. गाय के ऐसा करने से उस जमीन से जो धूल निकलती है, उसे हीं गोधूलि कहा जाता है. जिसे हिंदू धर्म में काफी पवित्र माना गया है. गोधूलि को देख लेने मात्र से हीं मनुष्य को पुण्य की प्राप्ति हो जाती है.

गोखुर

गाय अपने पैर के खुर यानि की तले से जमीन की मिट्टी को खुरच देती है जिसे गोखुर कहा जाता है. गाय के पैरो को तीर्थ का सम्मान दिया गया है. किसी भी शुभ कार्य के लिए जाते वक्त अगर गाय के पैरों के दर्शन कर लेते हैं, तो आपके कार्यों में सफलता निश्चित रूप से मिलती है. गाय के पैरों के दर्शन मात्र से लाभ और पुण्य की प्राप्ति आसानी से हो जाती है.

दोस्तों गाय माता को हिंदू धर्म में ईश्वर का दर्जा दिया गया है. जिनकी हर बात, जिनकी हर चीज में सिर्फ और सिर्फ गुणों का खान है. गाय माता के दर्शन मात्र से पुण्य की प्राप्ति होती है. तो वहीं गाय माता का मूत्र हम इंसानो के लिए अमृत का काम करता है. इसलिए हर रोज गाय का दर्शन करें और अपने जीवन को धन्य बनाएं.

Comments


log in

Don't have an account?
sign up

reset password

Back to
log in

sign up

Captcha!
Back to
log in