सफर के दौरान उल्टियां या वोमिटिंग क्यों होती है ?


सफर के दौरान उल्टियां या वोमिटिंग क्यों होती है ?
सफर के दौरान उल्टियां या वोमिटिंग क्यों होती है ?

सफर के दौरान उल्टियां क्यों होती है ? सफर के दौरान उल्टियां होने को लेकर या इस समस्या से कई लोग ग्रसित होते हैं. ज्यादा लंबा सफर या टेढ़े-मेढ़े व घुमावदार जगहों पर गाड़ी में सफर करने से कई लोगों को उल्टियां हो जाती है. लेकिन, क्या कभी आपने सोचा है कि ऐसा होता क्यों है सफर के समय उल्टियां क्यों आती है ?

चलिए जानते हैं, इसके बारे में. आज हम आपको बताते हैं सफर के दौरान उल्टियां जैसी होने वाली समस्याओं से कैसे निजात पा सकते हैं. इसके लिए आपको निचे दिए गए निम्न बातों पर ध्यान रखना चाहिए –

Also Read : कैसे वेश्यावृत्ति इलाके ‘Red Light Area’? और पॉर्न फिल्म ‘Blue Film’? बन गए !

सफर के दौरान जी मिचलाना और उल्टी आने की समस्या को मोशन सिकनेस कहते हैं और यह इसलिए होता है जब हमारे दिमाग को सफर के दौरान शरीर के अलग अलग हिस्से से कई अलग अलग सिग्नल हमारे मस्तिष्क को मिलते हैं और इससे हमारे सेंट्रल नर्वस सिस्टम पर बुरा असर पड़ता है जिससे हमें घबराहट, जी मिचलाना व उल्टी जैसी समस्याएं होने लगती है.

  • कहीं भी सफर करते समय गाड़ी में पिछले सीट पर ना बैठे हैं आप हमेशा कोशिश करें कि अगली सीट मिले.
  • सफर में कोशिश करें कि किताब ना पढ़ें, इससे भी हमारे दिमाग को गलत सिग्नल मिलता है.
  • सफर के दौरान घबराहट और जी मिचलाने की स्थिति में आप कोल्ड ड्रिंक्स, मिंट, कैंडी, च्युइंग गम और अदरक भी खा सकते हैं, इससे आपका जी मिचलना बंद हो जायेगा.
  • अगर आपको उल्टी जैसा लगे या आपका मन घबराने लगे तो आप गाड़ी की विंडो सीट पर बैठे और शीशे को पूरा खोल दें, जिससे आपको थोड़ा हल्का महसूस होगा.
  • सफर करते समय यह बात हमेशा ध्यान रखें कि सफर से पहले कभी खाली पेट ना निकले लेकिन ऐसा भी ना हो कि सफर से पहले बहुत ज्यादा खाना खा लें. सफर से पहले हल्का भोजन अच्छा रहता है.

Comments


log in

Don't have an account?
sign up

reset password

Back to
log in

sign up

Captcha!
Back to
log in