जानें स्पर्म से जुड़ी कुछ अनजान बातें !


जानें स्पर्म से जुड़ी कुछ अनजान बातें !

संभोग क्रिया के दौरान पुरुष के शरीर से लाखों-करोड़ों स्पर्म वीर्य के रूप में बाहर निकलते हैं. लेकिन दोस्तों उनमें से सिर्फ एक हीं ऐसा स्पर्म होता है जो महिला के अंडे के साथ मिलकर प्रजनन की प्रक्रिया को पूरा कर पाने में सक्षम होता है. हम में से ज्यादातर लोगों को इस विषय में ज्यादा कुछ जानकारी नहीं होती है. लेकिन हमारा मानना है कि हर किसी को इसकी जानकारी होनी चाहिए. आइए जानते हैं वीर्य से जुड़ी कुछ रोचक और खास बातें.

– पुरुषों के अंडकोष में वैसे तो स्पर्म हमेशा बनता है लेकिन उसे पूरी तरह से परिपक्व होने के लिए और प्रजनन के लिए पूरी तरह से तैयार होने के लिए लगभग 46 – 72 दिनों का समय लगता है.

– स्पर्म का जीवनचक्र अलग जगहों पर अलग रहता है जैसे कि अगर स्पर्म महिला के शरीर में प्रवेश करता है तो वो 5 दिन तक जीवित रह पाता है. जबकि सुखी जगह पर वीर्य के सूखते हीं ये मर जाते हैं. वीर्य को अगर किसी गर्म टब में स्खलित किया जाए तो ये घंटो तक सतह पर तैरते रहते हैं.

– संभोग क्रिया के दौरान शरीर काफी गर्म रहता है लेकिन शायद आप इस बात से वाकिफ ना हों कि स्पर्म का तापमान हमेशा शरीर के तापमान से लगभग 7 डिग्री कम हीं रहता है और अंडकोष में इसी तापमान में स्पर्म स्वस्थ और सुरक्षित रहते हैं.

– शरीर से बाहर निकलने वाले सारे स्पर्म पूरी तरह से स्वस्थ नहीं रहते हैं. बल्कि उनमें 90% स्पर्म खराब ही होते हैं.

– आपके बच्चे का लिंग पूरी तरह से आपके स्पर्म पर ही निर्भर करता है कुछ स्पर्म में वाई क्रोमोसोम (मेल) होता है. और कुछ स्पर्म में एक्स क्रोमोसोम (फीमेल) होता है. इन्हीं के हिसाब से बच्चे के लिंग का निर्धारण होता है.

– सामान्य तौर पर वैसे तो सभी पुरुषों में दो अंडकोष मौजूद रहते हैं जिनमें हमेशा वीर्य और स्पर्म बनते रहते हैं. लेकिन किसी व्यक्ति में अगर सिर्फ एक हीं अंडकोष हो तो भी उसके प्रजनन क्षमता पर किसी तरह का कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है.

तो दोस्तों स्पर्म और वीर्य से जुड़ी ये अनजान लेकिन रोचक बातें हर किसी के लिए जानना आवश्यक है. तो उम्मीद है कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा.

Loading...

Comments


log in

Don't have an account?
sign up

reset password

Back to
log in

sign up

Captcha!
Back to
log in