अजब गजब : जिस को पढ़ कर आप हैरत में पड़ जायेंगे पार्ट – 5


अजब गजब : जिस को पढ़ कर आप हैरत में पड़ जायेंगे पार्ट – 5
अजब गजब : जिस को पढ़ कर आप हैरत में पड़ जायेंगे पार्ट – 5

अजब गजब : जिस को पढ़ कर आप हैरत में पड़ जायेंगे : Ajab Gjab jise padh kar aap hairat me pad jayenge part 5

दोस्तों, अजब गजब के इस सृखला को आगे बढ़ाते हुए हम आज पांचवा आर्टिकल आप सबो के लिए ले कर आये है. आशा करता हु की आप सब इसे भी और दूसरे आर्टिकल की भांति पसंद करेंगे. चलिए जानते है क्या है आज का अजीबोगरीब दुनिया की अजब गजब बातें.

मेंढक की जबान मूंह के आगे से उगती है. जिससे उसे कीट - मकोड़ों के शिकार में काफी आसानी होती है.
विश्व में सर्वाधिक औसत आयु नीदरलैंड के निवासियों की है. वहां महिलाओं और पुरुषों की औसत आयु 75.3 वर्ष है. दुनिया में निम्नतम औसत आयु अफ्रीका में स्थित अंगोला नाम के देश के लोगों की है. मात्र 38.5 वर्ष.
जूलियस सीजर के युग में पृथ्वी की कुल जनसंख्या 15 करोड़ थी. विगत 2 वर्षों में पृथ्वी की जनसंख्या में कुल 15 करोड़ की ही वृद्धि हुई है.
मछली के हृदय में दो प्रकोष्ठ (Chambers) होते हैं.
अमेरिका की ओइस्टर नामक मछली प्रतिवर्ष 50 करोड़ अंडे देती है. फिर भी उन में से सामान्यतः एक बच्चा हीं वयस्क होने तक जीवित रह पाता है.
सिडनी, ऑस्ट्रेलिया में रहने वाली एक मां ने 56 दिन के अंदर दो जुड़वा बच्चों को अलग-अलग वर्षों में जन्म दिया. एक बच्चा 16 दिसंबर 1952 को तथा दूसरा बच्चा 10 फरवरी 1953 को पैदा हुआ.
सूर्य के अलावा पृथ्वी के सबसे निकट का तारा अल्फा सेण्टोरी है. जिसकी दूरी पृथ्वी से 4.4 प्रकाश वर्ष है. सूर्य हमसे केवल 8 प्रकाश मिनट दूर है.
ऊंट के शरीर में पित्ताशय ही (गॉल ब्लैडर) नहीं होता.
O ग्रुप का रक्त किसी भी अन्य किस्म के रक्त के साथ निरापद रूप से मिल जाता है. इसलिए इस ग्रुप के रक्त धारी को 'सार्वभौमिक दानकर्ता' कहा जाता है.
कुछ जीव जंतुओं को प्राकृतिक विपदाओं का पूर्वाभास हो जाता है. उदाहरण के लिए जैलीफिश तूफान के आने के 10 से 15 घंटे पहले किनारा छोड़ कर गहरे समुंद्र में चली जाती है. जापानी लोग घरेलू मछली घरों में ऐसी मछलियां पालते हैं, जो भूकंप आने के कुछ घंटे पूर्व ही उछल - कूद मचाना शुरु कर देती है. गहरे समुंद्र में रहने वाली मछलियां किसी भी प्राकृतिक आपदा की आशंका होने पर सतह पर आ जाती है.


log in

reset password

Back to
log in