अनोखा चोर : अजब गजब चोरों की अजीबोगरीब चोरी


अनोखा चोर : अजब गजब चोरों की अजीबोगरीब चोरी : Anokha Chor ajab gajab choron ki ajibogarib chori

मियामी फ्लोरिडा के विलियम कहान को दुनिया की सैर करने की सूझी, परंतु उसके पास सन् 1982 में उन दिनों इस कार्य हेतु धन नहीं था. अतः उसने एक तरकीब से काम लिया. उसने एक एयरलाइंस की फ्लाइट अटेंडेंट की पोशाक का जुगाड़ किया और मियामी हवाई अड्डे जाकर बड़े विश्वास से एक जेट वायु यान पर चढ़ गया. वहां उसने ट्रे हाथ में लेकर यात्रियों को ड्रिंक्स पेश करनी चालू कर दी. अन्य स्टाफ ने सोचा कि, यह कोई नया व्यक्ति है जो किसी की बदली में आकर कार्य कर रहा है. अतः उन्होंने उस से कोई पूछता नहीं कि. लंदन आते ही व उतर गया आराम से घुमा फिरा और फिर इसी चालाकी के सहारे वह वापस घर भी आ गया. अपने इस तरकीब से उसके बिना एक भी पैसा भाड़ा दिए विश्व के महत्वपूर्ण स्थान कि सैर की परंतु वह एक दिन पकड़ लिया गया. एक यात्री ने एयरलाइंस को लिख दिया कि विलियम कोहन बड़ा अच्छा कर्मचारी है और यात्रियों की बड़ी सेवा करता है. जब एयरलाइंस ने अपने कर्मचारियों के नामों की सूची देखी तब पता लगा कि उनके यहां इस नाम का कोई आदमी नौकरी में ही नहीं था. बस तभी कोहन पकड़ा गया.

 

इटली में कार्लो को कोलांडी नामक व्यक्ति, एक बैंक लूटने के इरादे से अंदर घुसा. जैसे ही वह दरवाजा खोलकर अंदर दाखिल हुआ, वह फिसल गया एवं उसका रूमाल मुंह से हट गया. वह फौरन खड़ा हुआ और कैशीयर की तरफ दौरा परंतु दुबारा फिसल पड़ा और उसकी पिस्तौल हवा में चल गई. बैंक का सारा स्टाफ हंस पड़ा तो वह घबरा कर बाहर अपने कार के तरफ भागा. परंतु वह अपने कार को नो पार्किंग एरिया में खड़ी कर आया था, अतः बाहर पुलिस उसी के वापस लौटने का इंतजार कर रही थी.

 

न्यूयॉर्क पुलिस ने सन 1922 में विश्व का एक अदभुत चोर पकड़ा, वह चोर अंधा था. वह वस्तुओं को छूकर या आवाज के सहारे पहचानता था. अंधा होने के कारण इसे घर की बत्तियां चालू करने की जरूरत नहीं होती थी. जिसके कारण वह काफी समय तक चोरी करने में सफल रहा और शक की निगाहों से बचा रहा.

 

सन 1920 में नॉर्थ अमेरिका के एक कोर्ट ने पांच व्यक्तियों को जुआ खेलने के अपराध में पकड़ा. जज ने इन्हें दंडित करने का नायाब तरीका निकाला उसने इन 5 व्यक्तियों को पासे फेंकने को कहा और जिस को जितने अंक मिले उसे उतने ही महीने कारावास में गुजारने का आदेश दिया गया. इन पांचों में बदनसीब वह जिसके लगातार दो बार छ: आया उसे 12 महीने तक कारावास की सजा भुगतनी पड़ी.

 

अमेरिका में एक व्यक्ति मास्क लगाकर बैंक में प्रविष्ट हुआ और वहां से एक बड़ी राशि लूटकर ले जाने में लगभग सफल हो गया था. परंतु अपनी एक जरा सी गलती से पकड़ा गया. यह गर्मी के दिन थे अतः गर्मी से बचने के लिए उसने अपनी आस्तीन ऊपर चढ़ा रखी थी. वह यह भूल गया था कि उसके एक हाथ में बड़ा सा टैटू बना हुआ है. इसी चिन्ह की वजह से वह पकड़ा गया

 

थॉमस नामक एक चोर को 12 महीने की सजा हुई. जून 1982 में उसे जेल ले गए. सिर्फ 2 महीने पूरे हुए थे, तभी उसे जेल से फरार होने का मौका हाथ लग गया. एक ट्रक जेल में सब्जियां देने के लिए आया था. इसके वापस लौटते समय थॉमस छिपकर इसके चेसिस से लटक गया. यहां कुछ सब्जियां खाली कर कुछ देर बाद अपने अगले गंतव्य पर रुका. जब थॉमस चुपके से ट्रक के नीचे से निकल कर बाहर आया था उसने यह देखकर अपना सिर पकड़ लिया कि वह ट्रक जेलों में सब्जियों की आपूर्ति करने वाला था और वह एक जेल के आहाते से निकल कर दूसरे जेल में आ पहुंचा था.

 

मेक्सिको की जेल से 50 कैदियों ने सामूहिक रुप से भागने की योजना बनाई. उन्होंने बड़े ही गुप्त तरीके से संपूर्ण योजना को कार्य रुप दिया और सुरंग खोदकर भाग निकलने में लगभग सफल हो गए. परंतु उन्होंने सुरंग की लंबाई नापने में गलती कर दी. जब सुरंग का दूसरा सिरा तोड़कर जमीन पर आए तब मालूम पड़ा कि वह एक कोर्ट रूम है. जहां जज किसी दूसरे केस का फैसला सुना रहे थे. हाथों-हाथ सब को दोबारा सजा सुना दी गई.

 

पूर्वी फ्रांस की पुलिस ने एक विचित्र यौन मनोरोगी को पकड़ा जो स्थानीय लॉन्ड्री में से सिर्फ औरतों के कपड़े चुराता था. पुलिस ने उसके पास से 699 पेंटीज, 460 ब्रा, 178 पेटीकोट और अन्य वस्त्रों का भंडार बरामद किया उसे कुल मिलाकर पचास हजार फ्रैंक के वस्त्र चुराने के आरोप में गिरफ्तार किया.

 

दो चोरों ने उस समय कमाल कर दिखाया जब वह मैसिया जेल में लगे टेलीविजन ही चुरा ले गए और वह इस जेल की फेसिंग में छेद करके पार करने में सफल हो गए.


0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *