‘अल्ट्रा मैन’ जीतकर मिलिंद सोमन ने फिर रचा नया इतिहास !


'अल्ट्रा मैन' जीतकर मिलिंद सोमन ने फिर रचा नया इतिहास
'अल्ट्रा मैन' जीतकर मिलिंद सोमन ने फिर रचा नया इतिहास

‘अल्ट्रा मैन’ जीतकर मिलिंद सोमन ने फिर रचा नया इतिहास : Ultraman Milind Soman

फिटनेस क्रेजी, एक्टर और सुपरमॉडल मिलिंद सोमन 90 के दशक के जाने-माने चेहरों में एक हैं. मॉडलिंग की दुनिया में इन्होंने नाम और शोहरत खूब कमाई. और अब पिछले 5 सालों से भारत में फिटनेस का चेहरा बन गए हैं. बता दें कि दुनिया की सबसे कठिन मैराथॉन की लिस्ट में शुमार ‘आयरन मैन’ के खत्म होने के बाद हाल हीं मिलिंद सोमन ने ‘अल्ट्रा मैन मैराथॉन’ जीता. अपनी जीत से उन्होंने देशवासियों का सर फक्र से ऊंचा कर दिया.

अल्ट्रा मैन मैराथॉन
अल्ट्रा मैन मैराथॉन

दोस्तों जहां आम मैराथॉन में 42 किलोमीटर तक की दौड़ होती है. वहीं मिलिंद सोमन लंबे समय से 2 किलोमीटर से भी ज्यादा के मैराथॉन में हिस्सा लेते रहे हैं.

बता दें कि हाल ही में ‘अल्ट्रा मैराथॉन’ खत्म हुई. इस मैराथॉन में पहले दिन हीं एथलीट्स को 10 किलोमीटर स्वीमिंग करनी पड़ती है. और 142 किलोमीटर साइकिलिंग करनी पड़ती है. जबकि दूसरे दिन 276 किलोमीटर साइकलिंग और 84 किलोमीटर दौड़ना होता है.

इस महा मैराथॉन में मिलिंद सोमन के अलावा चार और भारतीयों ने भाग लिया था. और व भी मिलिंद के साथ हीं अपने मैराथॉन को खत्म करने में सफल हुए. इनके नाम कोस्तभ राधकर, अभिषेक मिश्रा, मनमध रेब्बा और पृथ्वीराज पाटिल है.

दोस्तों जानकर हैरानी होगी कि मिलिंद सोमन ने दौड़ने के लिए जूतों का सहारा नहीं लिया. बल्कि पूरा मैराथॉन उन्होंने नंगे पांव हीं खत्म किया.

मिलिंद सोमन ने दौड़ने के लिए जूतों का सहारा नहीं लिया
मिलिंद सोमन ने दौड़ने के लिए जूतों का सहारा नहीं लिया

मिलिंद सोमन अपने प्रयासों से लगातार देशवासियों को एक फिट लाइफस्टाइल जीने की प्रेरणा देते आए हैं. 51 साल की उम्र में भी मिलिंद सोमन जिस तरफ फिट एंड फाइन हैं, देशवासियों के लिए एक प्रेरणादायक हैं.


log in

reset password

Back to
log in