जन्म देती हुई इन महिलाओं की ये 16 तस्वीरें देख कर आप कहेंगे, ” माँ “


जन्म देती हुई इन महिलाओं की ये 16 तस्वीरें देख कर आप कहेंगे, " माँ "
जन्म देती हुई इन महिलाओं की ये 16 तस्वीरें देख कर आप कहेंगे, " माँ "

हर एक व्यक्ति के जीवन में माँ एक अनमोल इंसान के रुप में होती है जिसके बारे शब्दों की परिभाषा में बयाँ नहीं किया जा सकता है. कहते है कि भगवान हर किसी के साथ नहीं रह सकता इसलिए उसने माँ को बनाया. ममता की गहरी झील है माँ , वो घर किसी जन्नत से कम नहीं, जिस घर मे खुदा की तरह पूजी जाती है माँ”. दोस्तों ये भी कहते है की मारना जितना आसान है, उतना ही कठिन है जीवन देना. किसी को जीवन देना कितना खूबसूरत हो सकता है, इस बात का एहसास सिर्फ माँ और सिर्फ एक माँ को ही हो सकती है.

माँ बनना शायद दुनिया की सबसे अलौकिक प्रक्रियाओं में से एक है. जन्म देने की ये प्रक्रिया पीड़ादायक तो है, लेकिन उतनी ही खूबसूरत भी. शायद इसलिए अत्यंत पीड़ा झेलने के बावजूद एक औरत को सबसे ज़्यादा ख़ुशी मां बनने पर मिलती है. जन्म देने का ज़िम्मा ईश्वर ने एक औरत को इसलिए दिया क्योंकि इस काम के लिए जो सहनशक्ति और कोमलता चाहिए, वो सिर्फ महिलाओं में हो सकती है.

दोस्तों आज अपने इस आर्टिकल ( जन्म देती हुई इन महिलाओं की ये 16 तस्वीरें देख कर आप कहेंगे, ” माँ ” ) के माध्यम से दिखाऊंगा और बताएंगे की ये एक ऐसा खुबशुरत पल होता है, जो हर किसी के लिए बेहद ख़ास है. दोस्तों इन पलों को कैमरे में बहुत ही खूबसूरती से कैद किया है लेलनि रोजर्स ने और उन्ही की वे तस्वीरें आप लोगों से साथ साझा करने वाला हूँ, इन तस्वीरों को देख आप भी कहेंगे की माँ तो सब कुछ होती है. ये हैं कुछ तस्वीरें जिनमें आप जीवन को मां के हाथों में अंगड़ाई लेते हुए देख सकते हैं.

READ  यहां की महिलाएं आंचल में छिपाकर जानवर के साथ करते है ये काम…

 

ये बच्चा एमनीओटिक सैक में हुआ था. एमनीओटिक सैक माँ के गर्भ में वो सबसे पतली थैली होती है, जो भ्रूण को सुरक्षित रखती है.

ये बच्चा एमनीओटिक सैक में हुआ

 

वाटर बर्थ, इस वक़्त अपनायी जा रही सबसे प्राकृतिक बर्थ टेक्निक्स में से एक है. इस तस्वीर में माँ अपने बच्चे को देख ख़ुशी से रो पड़ी.

वाटर बर्थ

 

सीज़ेरियन तरीके से पैदा हुई ये बच्ची, उतनी ही ख़ूबसूरत है, जितनी नॉर्मल डिलीवरी से हुआ कोई भी जन्म.

सीज़ेरियन तरीके से पैदा हुई ये बच्ची

 

7 साल की ये बच्ची, अपनी माँ को उसके सफ़र में अकेला कैसे छोड़ सकती थी. इसलिए वो सीधे पानी के टब में कूद गयी. अपनी बेटी की इस प्यारी प्रतिक्रिया से माँ को बहुत ख़ुशी हुई, उसे अपनी बेटी का साथ बहुत ही अच्छा लगा.

7 साल की ये बच्ची, अपनी मां को उसके सफ़र में अकेला कैसे छोड़ सकती थी

 

6 उंगलियों के साथ हुआ ये बच्चा, पहली बार किसी ने देखा था. उसकी इस उंगली में हड्डी न हो कर सिर्फ़ एक नाखून था.

उंगलियों के साथ हुआ ये बच्चा

 

अम्बिलिकल कॉर्ड वो धागा है जो माँ और बच्चे को आपस में जोड़ के रखता है. भ्रूण से शिशु बनने की प्रक्रिया में इसका अहम योगदान रहता है.

अम्बिलिकल कॉर्ड वो धागा है जो मां और बच्चे को आपस में जोड़ के रखता है

 

किसने कहा जन्म सिर्फ़ एक ही तरीके से दिया जा सकता है? इस माँ ने अपने बच्चे की सहूलियत के लिए ये तरीका अपनाया.

बच्चे की सहूलियत के लिए ये तरीका अपनाया

 

माँ की कोख में कितनी शान्ति थी! कुछ ऐसा ही कह रही है यह बच्ची.

बच्चे की सहूलियत के लिए ये तरीका अपनाया

 

बहुत सारी महिलाएंअपनाती हैं जन्म देने का ये तरीका, इसमें चमेली और लैवेंडर जैसे खुशबूदार फूलों की सुगंध का इस्तेमाल कर होने वाले बच्चे के लिए अच्छा माहौल तैयार किया जाता है.

बच्चे की सहूलियत के लिए ये तरीका अपनाया

 

READ  कोहली ने प्रधानमंत्री मोदी को भी छोड़ा पीछे, उनके अनुष्का वाले ट्वीट को मिला गोल्डन अवार्ड !

इस माँ को अपने बच्चे के लिए बाथ टब सबसे सुरक्षित जगह लगी.

इस मां को अपने बच्चे के लिए बाथ टब सबसे सुरक्षित जगह लगी.

 

इतना कष्ट और पीड़ा झेलने के बावजूद ये माँ अपने होने वाले बच्चे का बेसब्री से इंतज़ार करती हुई.

इतना कष्ट और पीड़ा झेलने के बावजूद ये मां

 

एक माँ बनने से कुछ ही पल दूर है और दूसरी ने इसके लिए कुछ ज़्यादा ही लम्बा सफर तय किया.

एक मां बनने से कुछ ही पल दूर है

 

पिता बनने की ख़ुशी और बेसब्री, दोनों ही इनके चेहरे पर दिख रही है. अपनी पत्नी के लिए मन्नत मांगते हुए.

पिता बनने की ख़ुशी और बेसब्री, दोनों ही इनके चेहरे पर दिख रही है. अपनी पत्नी के लिए मन्नत मांगते हुए.

 

दुनिया की सबसे सुकून भरी जगह – माँ का आंचल.

दुनिया की सबसे सुकून भरी जगह - मां का आंचल

 

दुनिया में आने के बाद बच्चा सबसे पहले अपनी माँ और उसके दूध को ढूंढ़ता है. मां को अपने बच्चे को पहली बार दूध देने में मदद करती दादी-माँ.

दुनिया में आने के बाद बच्चा सबसे पहले अपनी मां और उसके दूध को ढूंढ़ता है

 

बहुत लोग प्लेसेंटा के बारे नहीं जानते. लेकिन ये वो संरक्षण है, जो बच्चे को ज़रूरी ख़ुराक देता है और किसी भी तरह के इन्फेक्शन से बचा के रखता है.

बहुत लोग प्लेसेंटा के बारे नहीं जानते

ज़िन्दगी बड़ी अनमोल है और इसकी सबसे बड़ी सौगात है एक माँ को जन्म देते हुए देखने का अनुभव.

janm deti in mahilaon ko dekhkar aap kahenge maa | Leilani Rogers photography

 


Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

log in

reset password

Back to
log in