मायोंग गांव काले जादू का गढ़ है, आस पास के लोग इस गांव का नाम लेने से भी डरते है.


दोस्तों, आज हम आपको भारत के एक ऐसे गांव के बारे में बता रहा हूँ जिसे काले जादू का गढ़ माना जाता है. इस गांव के लगभग हर घर में काला जादू होता है. कहा जाता हैं की, काले जादू से किसी पुतले पर सुई चुभोकर इंसान को तकलीफ दी जा सकती है, उससे किसी को वश में करके मनचाहा काम करवाया जा सकता है. इस गांव में लोगों के अनुसार, यहाँ इंसान को जानवर भी बनाया जा सकता है. इन्ही सब वजहों से आज भी काले जादू का नाम आते ही लोगों के दिमाग में सबसे पहले नींबू, मिर्च, सुई, पुतला और खौफ आता है. वैसे तो भारत में काले जादू का प्रचलन सदियों से चला आ रहा है. मगर असम का मायोंग गांव ऐसा गांव जिसे काले जादू का गढ़ माना जाता है. आप को ये जाiन कर हैरत होगी की इस गांव का नाम लेने से भी आसपास के गांव वाले डरते हैं. यहां घर-घर में आज भी कला जादू किया जाता है और मान्यता है कि पूरे विश्व में काले जादू की शुरुआत इसी जगह से हुई है. असम का छोटा सा गांव मायोंग गुवाहाटी से लगभग 40 कि.मी. दुरी पर है.

मायोंग गांव का महाभारत से सम्बन्ध

महाभारत में भी मायोंग का जिक्र आता है. मायोंग नाम संस्कृत शब्द माया से लिया गया है. कहा जाता है की भीम का मायावी पुत्र घटोत्कच मायोंग का ही राजा था.

मायोंग गांव वालों ने गायब कर दी थी पूरी सेना

कहा जाता है सन 1332 में असम पर मुग़ल बादशाह मोहम्मद शाह ने एक लाख घुड़सवारों के साथ आक्रमण की थी. तब उस समय गांव में हज़ारों तांत्रिक मौजूद थे, उन्होंने मायोंग गांव को बचाने के लिए एक ऐसी जादुई दीवार खड़ी कर दी थी जिसको पार करते ही सैनिक गायब हो जाते थे.

READ  महिला ने दिखाई हिम्मत रेप कर रहे युवक का काट दिया प्राइवेट पार्ट

मायोंग गांव वाले से डरते है आस पास के गांव वाले

देश और दुनियाभर से काला जादू सीखने और रिसर्च के लिए लोग मायोंग आते हैं. लेकिन आसपास के गांव के लोग यहां आने से डरते हैं. यहां आने वालों में अधिकतर लोग काले जादू से बीमारियों को दूर करने या फिर किसी और पर काला जादू करवाने आते हैं.

mayong village black magic mayong gaon kala jaadu

बौद्ध और हिन्दू धर्म के लोग साथ साथ करते थे काला जादू

इस गांव में दो कुंड बने हुए है, एक अष्टदल कुंड और दूसरा योनि कुंड. योनि कुंड पर हिन्दू और अष्टदल कुंड पर बौद्ध धर्म के साधक साधना किया करते थे. यहां 12 वीं शताब्दी की कई पांडुलिपियां भी मौजूद हैं. ये काले जादू के वे बेसकीमती दस्तावेज़ हैं जिनका मूल्य केवल इस भाषा और रहश्य को समझने वाले ही बता सकते हैं.

बूढ़े मायोंग में होता है काला जादू

मायोंग गांव में बूढ़े मायोंग नाम की एक जगह है, जिसको काले जादू का केंद्र माना जाता है, यहां भगवान शिव, देवी पार्वती एवं श्री गणेश की तांत्रिक प्रतिमा है, जहां सदियों पहले नरबलि दी जाती थी. योनि कुंड यही पर बना हुआ है जिस पर कई मन्त्र लिखे हैं. मान्यता है कि तंत्र-मंत्र शक्ति के कारण ये कुंड हमेशा पानी से भरा रहता है.

यहां आने से क्यों डरते हैं लोग

कहते है कि यहां लोग गायब हो जाते है या फिर जानवरों में बदल जाते हैं. ये भी कहते है की यहां लोग सम्मोहन से जंगली जानवरों को पालतू बना लेते हैं. यहाँ काला जादू पीढ़िया दर पीढ़िया यह चलन चल रहा है और नई पीढ़ियों को भी आवश्यक रूप से सिखाया जाता है.

READ  दुनिया का सबसे अभिशापित हीरा कोहिनूर!

भलाई के लिए करते है जादू

मायोंग के लोग काले जादू का उपयोग केवल समाज की भलाई के लिए ही करते है. हालांकि गांव वालों को कई अनेक प्रकार की विद्याओं में महारत हासिल है लेकिन वे इसका उपयोग केवल लोगों की बीमारियां ठीक करने एवं चोरों को पकड़ने के लिए करते है.

mayong village black magic mayong gaon kala jaadu

कैसे होता है काला जादू

यह दुर्लभ एक प्रक्रिया है कुछ ही लोग इसे करने में सक्षम हो पाते हैं. इसमें बेसन, उरद के आटे आदि से बनी गुड़िया का प्रयोग होता है. जिस पर जादू करना होता है उसके नाम से पुतले को जाग्रत किया जाता है.

best whatsapp & facebook status in englishWhatsApp Status in Hindi
Attitude Status HindiBest Status Hindi
Rajput StatusMiss You Status

mayong village black magic mayong gaon kala jaadu


Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

log in

reset password

Back to
log in