राम । रहमान । राम । रहमान (उर्फ) हिन्दुस्तान मेरी जान!


 

शुक्रवार को हिन्दू बन जाऊँ
मंगल को बन जाऊँ मुसलमान
शंख की ध्वनि मे अल्लाहु
सुनाये मुझे मेरा भगवान

ना मजहब मेरा ईमान
ना जात मेरी पहचान
दिवाली मे मेरा अली छिपा
और राम से बने रमज़ान

शिव का जब से किया ध्यान
तब से लगा रोज़ा रखना आसान
मेरा कृष्ण दिखे मुझे टोपी पहने
मजारो मे दिखे मेरा भगवान

हम तुम दोनो एक ही माँ की संतान
तुझे भी बुत नापसंद, मुझे भी ब्रह्म का ज्ञान
चलो अयोध्या मे बनाये
बच्चों के खेलने का मैदान

जो जिन्दा है उनके लिए खप्परैल का मकान
जो मर गए उनके लिए इतना बड़ा शमशान
देखे मैंने मंदिर मस्जिद, देखे तीरथ-धाम
एक ही सामान बेचने के लिए अलग-अलग दुकान

ढलता सूरज, केसरिया आसमान
उससे झांके, देखे मुझे मेरा भगवान
जब हो बारिश, हरी-हरी धरती
सारी कायनात हो जाए मुसलमान

आपके खानदान मे दी है किसी ने देश पर जान?
यहाँ तो हिन्दू मुसलमान बस इसी बात से परेशान
ताजिये का जुलुस पहले निकले या पूजा का जुलुस
ताली बजाओ जमूरे, ये है हिदुस्तान मेरी जान!


Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

log in

reset password

Back to
log in