अजब गजब : इन लोगों की वसीयत बड़ी ही अजीबोगरीब थी !


Ajab Gajab : Ajibogarib vasiyat nama chod gye ye log

सैन फ्रांसिस्को कैलिफ़ोर्निया के जॉन कैमरून की यह क्या इच्छा अधूरी रह गई थी वह किसी हेलीकॉप्टर से पियानो को नीचे धरती पर गिराए जाने की आवाज सुने अपनी मृत्यु के समय उसने अपने 800000 डॉलर संपदा में से $15000 मित्रों की पार्टी के लिए छोरे अतः मित्रों ने एकत्र एकत्र होकर मरनोपरांत उसकी अधूरी इच्छा को पूर्ण किया एक हेलीकॉप्टर से पियानो को पार्टी स्थल पर धम्म से फेंका गया तथा यह माना गया इस प्रकार से उत्पन्न हुए संगीत को सुनकर उनकी आत्मा को अवश्य ही शांति पहुंचेगी।

फरवरी 1990 में डेवनपोर्ट के मार्गो लैंप में अपनी मृत्यु के अवसर पर वसीयत में लिखा कि उसकी 6,00,000 डॉलर संपदा उसके सूअर के रखरखाव पर खर्च की जाए उसका कोई निकट संबंधी नहीं था था वह अपनी सारी संपत्ति अपने प्रिय सूअर के नाम छोड़ गया।

80 वर्षीय विधवा जरोथी मृत्यु के बाद अपनी समस्त 5.1 मिलियन डॉलर संपदा लंदन की ‘रॉयल सोसाइटी फॉर दी प्रिवेंशन ऑफ क्रअलटी टू एनिमल्स’ के नाम पर कर गई इस महिला के पास सिर्फ एक पालतू बिल्ली थी यह महिला अपनी गरीब बहन के नाम से कुछ छोड़कर नहीं गई।

फिगवाड अपने मकान में एक टेंट बनाकर रहता था मरते समय वह अपनी सारी बचत 26107 पाउंड जीसस क्राइस्ट के नाम छोड़ गया।

76 वर्षीय हैंपशायर निवासी कैली मरते समय अपने भाई के नाम बगीचे में काम आने वाले औजारों का जंग लगा गला हुआ ढेर सारा सामान छोड़ गया तथा शेष 54,000पांउड ब्रिटेन के जगह सोवियत संघ के नाम कर गया।

लंदन के एक धनी मिस्टर पार्किंस को शराब पीने का शौक था उन्होंने अपनी वसीयत में लिखा था कि उनकी बरसी के दिन उनके घर के सभी दरवाजे खुले रखे जाए और जो भी व्यक्ति उस दिन उधर से गुजरे उसे सम्मान से घर में लाकर जी भर कर शराब पिलाई जाए।

स्मेइल ब्रांच नामक एक अंग्रेज ने अपनी वसीयत में लिखा था कि उसकी सारी ज्यादा उसकी पत्नी को तभी दी जाए जब वह प्रतिदिन 5 सिगरेट पीये अन्यथा सारी संपत्ति सरकार वापस कर ले इस व्यक्ति की पत्नी को सिगरेट से घृणा थी।

फ्रांस की मदाम ए.क्लारा की वसीयत आज भी अपने असली हकदार के लिए उपलब्ध है इस महिला ने अपनी सारी पूंजी मंगल ग्रह से आने वाले प्रथम यात्री के नाम कर रखी है अतः यह धन अभी भी सरकार के पास सुरक्षित है।


0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *