महिला ने दिखाई हिम्मत रेप कर रहे युवक का काट दिया प्राइवेट पार्ट


महिला ने रेप कर रहे युवक का काट दिया प्राइवेट पार्ट : mahila ne rape kar rahe yuvak ka kaat diya private part

दोस्तों, टाइटल से तो आप समझ ही गए होंगे की मामला क्या है। दरअसल ये मामला भारत देश के उत्तर प्रदेश राज्य के मेरठ जिले के चंदौली गांव की है, जहां एक दलित महिला शौच के लिए गई हुई थी कि तभी एक युवक ने चाकू दिखाकर उस महिला का रेप करने की कोशिश करने लगा। लेकिन उस युवती ने उस वक्त बिना डरे हिम्मत से काम लेते हुए युवक के हाथ से चाकू छीन लिया। बस क्या था इसके बाद पूरा पासा पलट गया।

आज के जमाने की इस झांसी की रानी ने उस हैवान युवक को ऐसा सबक सिखाया की पूरी दुनिया के लिए वो एक मिसाल बन गई। खासकर हमारे उस भारत देश के लिए जहां हर रोज रेप की घटनाएं आम बात हो चुकी है।

जैसे ही उस युवक ने चाकू दिखाकर युवती को अपने हवस का शिकार बनाने की कोशिश की, उस युवती ने पूरी हिम्मत और ताकत के साथ युवक पर हमला कर उससे चाकू छीन लिया और तेजी के साथ बिना डरे उस युवक के प्राइवेट पार्ट को ही काट डाला।

देखते ही देखते इस घटना की खबर आंधी-तूफान की तरह पूरे गांव में फैल गई। हवसी घायल युवक को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया।

युवती ने आरोप लगाते हुए कहा है कि शाम के समय जब वो खेत में शौच के लिए जा रही थी उसी दौरान उसी के गांव का एक युवक उसका पीछा करने लगा और पीछे-पीछे वहां तक पहुंच गया। फिर एकांत देखकर उस गंदे युवक ने युवती को चाकू दिखाकर अपने हवस का शिकार बनाना चाहा, लेकिन वो खुद ही ऐसा शिकार बना कि जिंदगी भर के लिए उसके दिन का चैन और रातों की नींद गायब हो गई। उसके गुनाह की सजा उसी युवती ने ऐसी दी कि उसे किसी और सजा की आवश्यकता ही नहीं।

इसी युवती की तरह अगर हर महिला अपनी सुरक्षा की जिम्मेदारी अपने हाथ में ले और हर हवसी पुरुष को खुद ही सजा देने की ताकत रखे तो इस समाज में रेप जैसे वारदात को अंजाम देने के बारे में कोई सपने में भी नहीं सोचेगा। दोस्तों मैं चाहती हूं कि इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर किया जाए ताकि हर किसी के लिए ये सबक का काम करे। हर उम्र की महिला तक पहुंचे ताकि उनके हौसले बुलंद हो सके। और हर उस गंदी मानसिकता वाले इंसान के पास पहुंचने चाहिए जो गंदी सोच रखते हैं ताकि इस सोच को वो खुद ही मिट्टी में मिला दे।

दोस्तों इस बारे में आपका क्या ख्याल है हमें कमेंट करके अवश्य बताएं।


Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

log in

reset password

Back to
log in