क्या Laika एक खुशनसीब Dog थी? जानें, दर्द की वो दास्तां


Laika The Space Dog:

Laika, स्पेस में जानेवाली पहली Dog। हालांकि Leika से पहले और भी कई प्राणियों को जैसे, कुछ मक्खियां और चूहे को स्पेस मिशन पे भेजा गया था। इनके अलावा Laika से पहले एक एलबर्ट नाम का बंदर भी स्पेस मिशन में शामिल हो चुका था। सन 1948 में एक सब आॅर्बिटल फ्लाइट में एलबर्ट को भेजा गया था। हालांकि वो पूर्णत: स्पेस मिशन नहीं था इसलिए Laika को ही स्पेस में जानेवाली पहली जानवर के तौर पर जाना जाता है।

यकीनन Laika पर हर कोई गौरवान्वित महसूस करता है लेकिन Laika के साथ जो हुआ वो कितना सही था? आज जब आप Laika के स्पेस मिशन के बारे में जानेंगे तो आपकी आंखें नम हो जाएंगी। संभवत: आपको वैज्ञानिकों के उपर गुस्सा भी आए।
laika the space dogदरअसल 1950 से पहले स्पेस मिशन के लिए इंसानों को भेजना वैज्ञानिकों के लिए बेहद चुनौतीपूर्ण था इसलिए उन्होंने 1957 में माॅस्को में एक ऐसे Dog को अपने रिसर्च के लिए चुना जो सड़कों पर आवारा घूमा करती थी। उस कुतिया का नाम Laika रखा गया। नादान और बेजुबान 3 साल की Laika को इस बात की क्या खबर थी की वो इतिहास को रचने जा रही है, वो भी अपनी जान की आहूती देकर।

इसी दौरान सोबियत स्पेस प्रोग्राम की मदद से विश्व का पहला स्पेस सेटेलाइट स्पूटनिक 1 को लाॅन्च किया गया जो सफल रहा था लेकिन उस सेटेलाइट में किसी जीवित प्राणी को नहीं भेजा गया था। इसी कारण वैज्ञनिकों ने किसी जिंदा और बड़े जीव को सेटेलाइट में भेजने की योजना बनाई। ऐसे में अपने इस योजना को पूरी करने के लिए रसियन वैज्ञानिक जल्दबाजी में इसे अंजाम देना चाहते थे।

READ  ये हैं पाकिस्तान के सोनाक्षी-सलमान, इन स्टार्स के हमशक्ल भी हैं वहां

वैज्ञानिकों की जल्दबाजी के कारण उन्होंने Laika के स्पेसक्राफ्ट को पूरी तरह तैयार करने के लिए मात्र 4 हफ्ते का समय लगाया। इस जल्दबाजी का खामियाजा किसी और को नहीं बल्कि मासूम Laika को भुगतना पड़ा था। Laika के इस स्पेसक्राफ्ट का नाम स्पूटनिक 2 था। इसे खासतौर पर एक कुत्ते के लिए तैयार किया गया था। स्पूटनिक 2 में एक कार्बनडाइआॅक्साइड अबजाॅर्बर, आॅक्सीजन जेनरेटर और जानवर को ठंढक प्रदान करने के लिए एक पंखा लगा था। Laika को 7 दिन जीवित रहने के लिए कुछ भोजन सामग्री तथा कुत्ते के युरीन इत्यादी कलेक्ट करने की खातिर एक बैग का प्रबंध किया गया था। इस स्पेसक्राफ्ट को इतना छोटा बनाया गया था कि Laika उसमें घूम-फिर भी नहीं सकती थी।

Laika The Space Dog:

स्पेसक्राफ्ट में भेजने से पहले Laika को 20 दिनों की ट्रेनिंग के दौरान एक छोटे से पिंजरेनुमा जगह में रखा गया ताकि Laika को मिशन के दौरान अधिक परेशानी का सामना ना करना पड़े। इस तरह Laika की ट्रेनिंग पूरी हो गई। अब वो वैज्ञानिकों की दृष्टिकोण से स्पेस में जाने को तैयार थी। बता दें कि उन दिनों वैज्ञानिकों को ये तो पता था कि स्पेस में कैसे जाया जाता है लेकिन वापसी कैसे हो इसकी जानकारी नहीं थी।

साफतौर पर हम कह सकते हैं कि वो मिशन किसी सुसाइड मिशन से कम नहीं था। इनमें अंतर मात्र इतना था कि उस बेजुवान जानवर Laika को इस बात की कोई जानकारी नहीं थी कि उसकी जिंदगी अब कुछ दिन और बाकी है।

मिशन की तैयारी शुरु हो गई। स्पूटनिक 2 के अंदर बने केबिन में Laika को बांधकर डाल दिया गया ताकि वो ज्यादा हिल-डुल ना सके। इसी पोजिशन में मासूम बेजुबान को 3 दिनों तक वहीं रखा गया ताकि उसे इसकी आदत पड़ जाए।

READ  भगवान शिव के बिल्व वृक्ष से जुड़ी 11 रोचक बातें
3 नवम्बर 1957 Laika की ज़िंदगी का आखिरी दिन-

Laika को स्पेसक्राफ्ट के अंदर बंद कर उसे लाॅन्च कर दिया गया। अब लाॅन्च तो हो गया लेकिन कुछ समय बाद जब स्पेसक्राफ्ट के राॅकेट का हिस्सा उससे अलग होना था उस समय स्पूटनिक 2 का एक हिस्सा राॅकेट से अलग हो ही नहीं पाया। इस बात से ये तो साफ हो जाता है कि निश्चित तौर पर कोई टेक्निकल खराबी रही होगी। संभवत: इसे बनाने के लिए 4 हफ्ते का समय काफी कम था। अब इस हालात में Laika के केबिन का तापमान तेजी से बढ़ने लगा जिससे उसके हृदय की गति काफी तेज हो गई।

गर्मी के मारे Laika का दम घुटने लगा। और फिर 5 घंटे के बाद Laika के केबिन से सिग्नल आने बंद हो गए और ये साफ हो गया कि Laika ने दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया। इसके बाद वो स्पेसक्राफ्ट 162 दिनों तक उसी अवस्था में अंतरिक्ष में रहा व लगभग 2 हज़ार 570 बार धरती का चक्कर लगाने लगा। अंतत: 14 अप्रेल 1958 को धरती के वायुमंडल में आते ही Laika के मृत शरीर सहित जलकर खत्म हो गया।

साल 2008 में रसिया सरकार ने Laika के सम्मान में उसकी एक मुर्ती सहित स्मारक का निर्माण करवाया। ठीक उसी जगह पर जहां स्पेस मिशन पर जाने के लिए Laika को ट्रेंड किया गया था।

Laika के इस महान बलिदान को कोई नहीं भूल सकता। आज के समय में Laika के कारण ही हम बड़े-बड़े स्पेस मिशनों के बारे में सोच सकते हैं। लेकिन क्या वैज्ञानिकों ने Laika के साथ जो किया वो सही था ? आपको क्या लगता है हमें कमेंट कर अवश्य बताएं।

READ  मानव जगत के विकास के दौड़ से लेकर अब तक के 10 सबसे अमीर लोग !

 

 


Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

log in

reset password

Back to
log in